एक बात सुन ने को

एक बात सुन ने को

एक साल  इंतिज़ार करती रही

एक बार  देखने को

दिन रात बेक़रार करती रही

 

एक बात सुन ने को

एक साल  इंतिज़ार करती रही

एक बार  देखने को

दिन रात बेक़रार करती रही

बारात  लेके आती हुई मैँ

सपने देखते रही

अछे  सन्देश के लिए मैँ भी

आज तक  बैठे  रही

 

सूरज को पकटकर  मैँ  थोड़ी

मेरी झोली में रखने की कोशिश की

कान में झुमका सज सज कर

मैँ  मोरनी जैसी नाचने लगी

 

पानी के अंतर  रोपा कमल की तजवीज़

आज पूरा झील को  पी लिया

 

एक बात बोलने को

एक साल मुझमे गिलाफ लगी

वो तखने  से बचने को

मैँ भी बरदाश करते रहे

 

गांव  की रास्ते में सब

रुकावटें बहुत ही होंगी

तुम्हारी ये पाँव की निशानी

किधर भी थो मैँ  पहचान लूंगी

 

दिल को घट घटाकर तुमने देखि

वो खोला नहीं तब थोड़ लिया

 

तुम को मिलने के लिए मैँ  ने

तुम्हारा नाम कागज़ में लिखकर

हर दिन मंदिर जाकर उसको

देवी  को छड़ा  करती थी

करते करते आज देखे तो 

देवी भी चुप की बेटी

गायब हो गयी  भी वो

पूरी कागज़ की अंतर 

आँखे में बैठी  तुम को भगाते

तुम मेरी मन में घुस कर छुपी

मन से तुम को इकराज  करते

तुम मेरी साँसों में आकर छिपी

 

तुम ने दिया हुआ पत्थर भी 

देवी की मूर्ति बन  गयी

 

एक बात बोलने को

एक साल मुझमे गिलाफ लगी

वो तखने  से बचने को

मैँ भी बरदाश करते रहे

 

पडोसी की  शादी का वो

निमंत्रण पत्र देखते ही

उसमे तेरा मेरा नाम लिख के में ने

मन की ख़ुशी फैलाती

 

अब तक  लगा मेरी लोहे का दिल 

कैसे, आज से बदल गयी सूती धागा जैसे

 

बड़ी मूंछवाले  राजा जैसा

तस्वीर तेरा

खींच रखा था एक तो 

चुप चुप के मैँ ने

बाप उसको देखते ही

देश प्रेमी तस्वीर  समझे

संभालकर उसको हमारी

घर की दीवार में छिपकर  सजाया

 

बाँध का जैसा मेरा  दिल

तू छूने से  कैसे  टूठा

तूफान को सामना करते मेरा मन

एक फूल लगने से कैसे    झूकी

 

एक फूल की पौधे को मैँ  घूमते घूमते

वो भी फूल की बारिश जैसे  बहने लगी

 

एक बात सुन ने को

एक साल  इंतिज़ार करते रही

 

एक बात बोलने को

एक साल मुझमे गिलाफ लगी

 

एक बार  देखने को

दिन रात बेक़रार करती रही

 

वो तखने  से बचने को

मैँ भी बरदाश करते रहे

 

सूरज को पकटकर  मैँ  थोड़ी

मेरी झोली में रखने की कोशिश की

कान में झुमका सज सज कर

मैँ  मोरनी जैसी नाचने लगी

 

पानी के अंतर  रोपा कमल की तजवीज़

आज पूरा झील को  पी लिया

 

 La la laa la laa la laa la la laa

 

 

By Sundareswaran Date: 30th May 2016

 

Courtesy:  Lyric: “Oru vaarthai solla oru varudam kaathirunthEn “

LyricisT:                                 Music: Bhardhwaj    Film: Ayya (Tamil)

Singers:  Krishnakumar Kunnath aka KK and Sadhna Sargam

Thanks for the inspiration to translate in Hindi.

 

Please link with https://www.youtube.com/watch?v=fXDpNYxw9x4

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s